नमित तिवारी की फिल्म नथुनिये पे गोली मारे 2’
दिव्यत शक्ति इंटरटेंमेंट और मरूती फिल्म्गस इंटरटेंमेंट के बैनर तले बनी फिल्मे‘नथुनिये पे गोली मारे 2’ गणतंत्र दिवस पर मुंबई में रिलीज होगी। इसको लेकर फिल्मम के अभिनेता नमित तिवारी काफी उत्साबहित हैं और कहते हैं कि फिल्मई की कहानी लाजवाब है, क्योंअकि इसकी कहानी में एक सच्चााई है। या यूं कहें तो फिल्मप बिहार में हुए पुलिस भर्ती घोटाले पर आधारित है। इसमें मेरा किरदार एक ऐसे ही एक युवक की है, जो देश की सेवा के लिए पुलिस में भर्ती होने का ख्वा ब पालता है। उसके लिए दिनरात मेहनत करता है। मगर उसकी मेहनत पर तब पानी फिर जाता है, पुलिस भर्ती के दौरान घोटाला के वजह से वह सेलेक्टउ नहीं होता है। उसके बाद उसकी लाइफ में जो तूफान आता है, वो काफी इंटरेस्टिंग है।

बता दें कि फिल्मन ‘नथुनिये पे गोली मारे 2’ के निर्माता – निर्देशक अजय श्रीवास्तसव हैं और नमित के अपोजिट शिविका दीवान नजर आयेंगी। इसको लेकर नमित कहते हैं कि अजय श्रीवास्त व के साथ काम करने में खूब मजा आता है। उन्होंयने इस फिल्मत में अभिनय भी किया है। शिविका दीवान भी काफी टाइलेंटेड अदाकारा हैं। उनके साथ हमारी केमेस्ट्री लोगों को खूब पसंद आयेगी। म्यूाजिक कंपनी वेब द्वारा जारी इस फिल्मर के ट्रेलर को अब तक लाखों लोगों ने देखा है। फिल्म के गाने भी काफी खूबसूरत हैं और एक्श्न का तो जवाब नहीं। मतलब दर्शकों को इंटरटेंमेंट का फुल डोज मिलेगा। उम्मीसद करते हैं दर्शकों को भी फिल्मश पसंद आयेगी।
दरअसल, नमित तिवारी ने अपने फिल्मीउ करियर की शुरूआत पर्दे के पीछे से की। तब वे एसिस्टें ट डायरेक्टोर हुआ करते थे। बतौर एसिस्टेंीट डायरेक्टमर उन्होंुने 12 भोजपुरी, 2 हिंदी और 4 टीवी सिरियल्सट किये। लेकिन साल 2014 में उन्होंकने भोजपुरी पर्दे पर अजय श्रीवास्तकव की ही भोजपुरी फिल्मं ‘तेरे नाम’ से लीड एक्टिर के रूप में डेब्यूत किया। तब इस सुपर हिट फिल्मे में सुपर स्टाशर खेसारीलाल यादव भी थे। फिर 2015 में उनकी फिल्मे आई ‘सुहाग’, जिसमें वे पवन सिंह के साथ नजर आये। इन दोनों फिल्मोंा में वे नोटिस किये गए। और 2016 में वे भोजपुरिया क्वीसन रानी चटर्जी के साथ फिल्मथ ‘घरवाली बाहरवाली’ से भी लोगों का ध्या्न अपनी ओर खींचा।
नमित के फिल्मीं सफर के बारे में उनके पर्सनल पीआरओ संजय भूषण पटियाला ने बताया कि नमित को दमदार कैरेक्टीर और इंटरटेनिंग स्क्रिप्ट् पर काम करना अच्छाा लगता है। इसलिए फिल्मर की कहानी और उसमें अपनी भूमिका पर ज्या दा ध्यारन देते हैं। क्योंचकि वे खुद भी एसिस्टेंलट डायरेक्ट र रह चुके हैं, तो उन्हेंे पता होता है कि दर्शकों को क्याइ पसंद आने वाली है, क्या‍ नहीं। नमित के पास ये एक बड़ा एडवाटेंज है। -Sanjay Bhushan Pataialya (PRO)

Print Friendly, PDF & Email

Comments are closed, but trackbacks and pingbacks are open.