2020 में हिंदी फिल्म गैंग्स ऑफ बिहार जैसी कई फिल्में लेकर आ रहे हैं राजवीर सिंह

रियलिस्टिक सिनेमा के हीरो बन गए हैं राजवीर सिंह

कहा जाता है अगर नियत साफ हो और कुछ कर जाने का जज्बा हो तो मंज़िल एक दिन मिल ही जाती है। पंजाब के  भटिंडा के रहने वाले राजवीर सिंह ने बड़ी मुश्किलों भरा सफर तय करके बॉलीवुड में अपनी एक पहचान बनाई है। सनोज मिश्रा के निर्देशन में बनी फिल्म “राम की जन्मभूमि”से अपना कैरियर शुरू करने वाले एक्टर राजवीर सिंह आज एक व्यस्त कलाकार हैं जो ना केवल कुछ बॉलीवुड फिल्में बतौर लीड कर रहे हैं बल्कि डिजिटल प्लेटफॉर्म पर भी काम कर रहे हैं।

उनकी आने वाली फिल्मों में काशी टू कश्मीर, गैंग्स ऑफ बिहार और नुशरत जहां जैसे प्रोजेक्ट्स शामिल हैं।

राजवीर सिंह के संघर्ष की कहानी भी किसी फिल्मी कहानी जैसी प्रतीत होती है। पंजाब भटिंडा के एक बेहद मध्यम वर्गीय परिवार के रहने वाले राजवीर की मम्मी एक हाउस वाइफ और सिलाई का काम करती थीं जबकि पिता जी कंस्ट्रक्शन लाइन में हैं। बचपन से ही फिल्मों का शौक रखने वाले राजवीर फिल्मों के सीन दोस्तों के सामने एक्ट करते थे। पहली फिल्म जो थियेटर में उन्होंने देखी वह अमिताभ बच्चन की मर्द थी। उसी दौरान उन्होंने शहंशाह देखी और उसके डायलॉग खूब याद करते थे। शुरू में मुंबई आकर उनमें बहुत शर्म, झिझक थी। कॉस्टयूम डिपार्टमेंट में उन्होंने असिस्टेंट के रूप में काम शुरू किया।बीच में फैमिली इशू की वजह से वह भटिंडा लौट गए और वर्षों भटिंडा में रह गए। 2016 में वह बुरी तरह बीमार पड़ गए और लगभग एक साल बेड पे पड़े इलाज करवाते रहे, उसी दौरान उन्हें एहसास हुआ कि एक्टिंग फील्ड में ही उन्हें अपना कैरियर बनाना है। और फिर सपना पूरा हुआ, सनोज मिश्रा की फिल्म राम की जन्मभूमि उनकी पहली रिलीज़ फिल्म थी।

उन्होंने सनोज मिश्रा की अपकमिंग फिल्म काशी टू कश्मीर की शूटिंग पूरी कर ली हैं जिसमें वह एक बेहद महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहे हैं।

वह कहते हैं “इस फिल्म में मेरा रोल ग्रे शेड्स लिए हुए है और मैंने इसी लिए ऐसा रोल स्वीकार किया ताकि मै अपनी एक्टिंग की काबलियत दिखा सकूं। लखनउ की रियल लोकेशन्स पे शूट करना मेरे लिए एक यादगार अनुभव रहा।” राजवीर सिंह इस फिल्म में ताज मोहम्मद का रोल अदा कर रहे हैं जबकि इस फिल्म में गोविंद नामदेव, ज़ाकिर हुसैन जैसे एक्टर्स भी हैं।

इसके अलावा उनकी तीसरी फिल्म आ रही है नुशरत जहां”। गुजरात में हुए इशरत जहां के एनकाउंटर की कहानी है यह फिल्म। जिस एसिपी ने एनकाउंटर किया था वही किरदार राजवीर प्ले कर रहै हैं। किस सिचुएशन में यह एनकाउंटर हुआ इस मूवी में वह दिखाया गया है।

कुमार नीरज द्वरा निर्देशिक फिल्म गैंग्स ऑफ बिहार में वह चुन्नू ठाकुर का अहम रोल निभा रहे हैं। वह क्रिमिनल भी है, निगेटिव रोल भी है पर उसके अंदर कुछ अच्छाइयां भी हैं।

पॉज़िटिव और निगेटिव किरदारों को निभाने के बारे में वह कहते हैं “हीरो या विलेन की कैटगरी में लोग एक्टर्स को डालते हैं मगर दरअसल वह एक कलाकार होता है जो एक किरदार निभा रहा होता है। मै इंपॉर्टेंट किरदार प्ले करना चाहता हूं।”

राजवीर सिंह ने दो शॉर्ट फिल्म बुक वार्म  निदेशक विनय सैंडलिया ओर द परफेक्ट स्माइल जिसका निर्देशिका बंदिता बोहरा है, उसमेभी काम किया है जो एक थ्रिलर है। हमेशा कुछ नया और डिफरेंट करने की कोशिश करने वाले राजवीर खुद को दोहराना नहीं चाहते।

गोविंद नामदेव, मुकेश तिवारी जैसे एक्टर्स के साथ काम करके उन्हें बहुत कुछ सीखने को मिला है। फिल्मों को वह सिर्फ काम नहीं बल्कि अपना पैशन मानते हैं। राजकुमार हिरानी, संजय लीला भंसाली, अनुराग कश्यप, मेघना गुलज़ार जैसे निर्देशक उन्हें बेहद प्रभावित करते हैं।

“ज़िन्दगी में स्ट्रगल कभी ख़तम नहीं होता.” वह ऐसा मानते हैं।

राजवीर सिंह कड़ी मेहनत को ही कामयाबी का मंत्र मानते हैं,वह कहते हैं “मां बाप से अपील करूंगा कि आपके बच्चे जो बनना चाहते हैं उसका सपोर्ट करें, बच्चो से कहना चाहूंगा कि वे मां बाप को कभी धोखा ना दें, उनकी उम्मीदों को ना तोड़ें।”

नए वर्ष में उनके कई प्रोजेक्ट्स रिलीज़ होने वाले हैं।

Print Friendly, PDF & Email